एसिडिटी Acidity और गैस का इलाज

0
694
एसिडिटी और गैस कब्ज की समस्या का उपाय इलाज
एसिडिटी और गैस कब्ज की समस्या का उपाय इलाज

दोस्तों आज हम अपनी इस लेख में आपके लिए गैस और एसिडिटी से जोड़ी कुछ जानकारी लेकर आए हैं।

यूं तो गैस और एसिडिटी Acidity दोनों ही पाचन संबंधी समस्याएं हैं। और इनका होना भी एक सामान्य प्रक्रिया है, और सभी जीवो में सामान्य रूप से होती है चाहे वह मनुष्य हो या पशु-पक्षी हो।

एसिडिटी Acidity और गैस क्या है?

जो कुछ भी हम खाते हैं, पीते हैं उसके साथ वायु हमारे शरीर में प्रवेश करती है और उसी से यह गैस बन जाती है।  

गैस बनने के कारण– कुछ लोगों को खाली पेट रहने से गैस बनती है और फिर यह गैस सिर में चढ जाती है, जिसकी वजह से जी मिचलाता है और उल्टी का मन करता है, कभी-कभी ज्यादा तला हुआ या भारी भोजन करने से गैस बनती है, देर से खाना खाकर सो जाने से गैस बन जाती है।

गैस बनने के कई कारण है किसी किसी को गैस गोभी खाने से, मटर खाने से, मूंगफली खाने से, पनीर खाने से, फलियां खाने से, सेब खाने से आदि कई चीजों से बनती है, कभी-कभी पेट साफ ना होने की वजह से भी गैस बन जाती है।

कुछ लोगों को सफर में सफोकेशन की वजह से भी गैस बन जाती है। कभी-कभी गैस शरीर में अटक जाती है (जैसे कि सिर में,हाथ में,सीने में या पेट में कहीं भी )जो की बहुत पीड़ा दाई होती है। ऐसा होने पर डॉक्टर के पास जाना ही पड़ता हैं।

 गैस मुंह से डकार के रूप में निकलती है और मलाशय से हवा के रूप में निकलती हैं। गैस दुर्गंध वाली हो सकती है।गैस कार्बन डाइऑक्साइड, नाइट्रोजन, मीथेन, हाइड्रोजन और ऑक्सीजन से बनी होती है। जब यह गैस दुर्गंध वाली होती है तो इसका मतलब होता है कि हमारा पेट साफ नहीं है या हमें कब्ज है।  

एसिडिटी Acidity गैस का परमानेंट इलाज:-

अगर डॉक्टरस की बात करें तो डॉक्टरस सुबह खाली पेट पैंटॉप गोली रिकमेंड करते हैं।

आजकल के आधुनिक आयुर्वेदिक प्रोडक्ट मैं यह सब Fruits & Herbs आराम से आपको कोल्ड प्रेस शुगर फ्री मिल जाते हैं आप खुद इनका चयन करके. इनका उपयोग रोज के प्रोटीन विटामिन मिनरल्स की पूर्ति के लिए कर सकते हैं.

ैस के घरेलू उपाय:-

  1. गैस बनने पर आप अजवाइन, काला नमक और हींग को बारीक पीसकर गर्म पानी के साथ सेवन कर सकते हैं उस से गैस में तुरंत आराम मिलता है।
  2. गैस में हरड़ का उपयोग बहुत फायदेमंद होता है। आप हरड़ का चूर्ण भी ले सकते हैं।
  3. गैस बनने पर आप लिम्का का भी सेवन कर सकते हैं। लिम्का पीने से गैस डकार के रूप में बाहर निकल जाती है।
  4. खाली पेट गर्म पानी पीने से या दिनभर भी गर्म पानी का ही सेवन करने से गैस में आराम मिलता है।
  5. भारी और तला हुआ भोजन खाने से बचना चाहिए।
  6. यदि आपको बार बार गैस बनने की समस्या है आपको चाय का सेवन कम कर देना चाहिए या बंद कर देना चाहिए।

एसिडिटी Acidity क्या है:-

सामान्य रूप से हमारा पेट हाइड्रोक्लोरिक एसिड Hydrochloric acid का स्त्राव करता है, जो खाने को तोड़ने और पचाने का काम करता है। ऐसे में जब पेट की गैस्ट्रिक ग्लैंड, एसिड का उत्पादन बढ़ाने लगती है। तो यह एसिडिटी की समस्या बन जाती है। एसिडिटी एक सामान्य प्रक्रिया है।परंतु यदि यह लंबे समय तक बनी रहे तो गंभीर बीमारियों का कारण बन सकती है।

एसिडिटी को मेडिकल टर्म में गैस्ट्रोएसोफेगल रिफ्लक्स डिजीज (GERD) कहा जाता है।

एसिडिटी Acidity का कारण:

  1. भारी तला हुआ चटपटा

भोजन खाना।

  • ओवर ईटिंग, कुछ लोग खाने के बहुत शौकीन होते हैं और वह एक बारी में बहुत सारा खाना खा लेते हैं जिससे एसिडिटी बन्ना लाजमी हैं।
  • धूम्रपान करना व शराब पीना
  • प्रेगनेंसी
  • बहुत देर तक खाली पेट रहना।

एसिडिटी Acidity से होने वाली बीमारियां:-

अपच, गैस्ट्रिक सूजन, हार्टबर्न, ऐसोफागस में दर्द, पेट में अल्सर और जलन, पेनक्रियाज कैंसर आदि गंभीर बीमारियां हो जाती हैं।

एसिडिटी Acidity का इलाज:-

  1. रात को सोने से दो-तीन घंटे पहले खाना खाए और खाना खाने के बाद वॉक अवश्य करें।
  2. रात के समय हल्का भोजन ले।
  3. अधिक मात्रा में पानी पिए।
  4. खाने खाते समय बीच-बीच में पानी ना पिए। या तो खाना खाने से आधे घंटे पहले पानी पिए या खाना खाने के आधे घंटे बाद पानी पीए।
  5. जब भी खाना खाए खाना चबा चबाकर खाएं, जल्दबाजी में खाना ना खाएं।
  6. रोज सुबह व्यायाम करें।
  7. अपनी डाइट में फाइबर युक्त भोजन को शामिल करें।
  8. फास्ट फूड का परहेज करें।
  9. ओवर ईटिंग से बचें।
  10. बिस्किट, नमकीन, चिप्स का सेवन बंद कर दें।

जरूर पढ़े:- जल्दी से वजन बढ़ाने के लिए क्या करना चाहिए

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here