गुड़हल Hibiscus का फूल खाने से क्या होता है?

0
447
गुड़हल का फूल खाने से क्या होता है
गुड़हल का फूल खाने से क्या होता है

गुड़हल के फूल को जवाकुसुम भी कहते हैं कुछ लोग इसे गुलहड़ के नाम से जानते हैं इसको इंग्लिश में हीबीस्कूस्, हिबिस्कस Hibiscus कहा जाता है गुलहड़ के फूल कई प्रकार के होते हैं यह पीला, लाल ,सफेद आदि कई रंगों में हो सकता है यह पौधा घरों में मिल जाता है या उगाया जा सकता है यह एक झाड़ी की तरह होता है और यह पौधा काफी लंबे समय तक जीवित रहता है। गुड़हल के पौधे को एक औषधीय पौधा माना गया है जो वजन घटाने, कोलेस्ट्रॉल को कम करने, एनीमिया की समस्या, ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने आदि के लिए प्रयोग किया जाता है गुड़हल के फूल और पत्तियों का सेवन करने से आयरन की कमी दूर होती है ।

गुड़हल के फूल में कौन सा विटामिन पाया जाता है?

गुड़हल एक औषधीय पौधा है इसके फूल या पत्तियां काफी पौष्टिक होते हैं क्योंकि गुड़हल में आयरन, फाइबर विटामिन सी, मिनरल और एंटीऑक्सीडेंट अच्छी मात्रा में मौजूद होते हैं।

गुड़हल Hibiscus का फूल खाने से क्या होता है?

गुलहड़ की पत्तियों या फूलों का सुबह खाली पेट सेवन करने से वजन कम करने में मदद मिलती है क्योंकि इसके फूलों में एंटीबैक्टीरियल गुण होता है जिसे यह शरीर के बैक्टीरिया को खत्म करता है और लीवर को डिटॉक्स या सेहतमंद बनाता है सुबह खाली पेट इसकी चाय पीने से शरीर अच्छे से डिटॉक्स होता है और सारे बैड बैक्टीरिया बाहर निकल जाते हैं।

क्या गुड़हल Hibiscus के फूल से खून बढ़ता है?

गुड़हल की पत्तियां या फूल की चाय या पाउडर का उपयोग करने से शरीर में एनीमिया की समस्या को कम किया जा सकता है इसके फूलों में भरपूर मात्रा में आयरन होता है जिससे शरीर में खून की कमी नहीं रहती एनीमिया की समस्या को कम करने के लिए गुड़हल के फूलों का उपयोग कर सकते हैं 

क्या हम गर्मियों में गुड़हल Hibiscus की चाय पी सकते हैं?

गुडहल Hibiscus के फूल पत्तियों का प्रयोग कई तरह की दवाओं में किया जाता है गुड़हल की तासीर ठंडी होती है जिसका मतलब है यह शरीर को हाइड्रेट रखने में मददगार माना गया है एक समय में गुड़हल की चाय काफी लोकप्रिय मानी जाती थी गुडहल की पत्तियों या फूलों में विटामिन सी का बढ़िया  सोर्स होता है इससे जुखाम गले की खराश का आदि में भी राहत मिलती है

गुड़हल के उपयोग 

आयुर्वेद में गुड़हल के फूल के उपयोग 

आयुर्वेद में गुड़हल के फूलों का प्रयोग प्राचीन काल से होता रहा है जैसे सफेद रंग के गुलहड़ को पीसकर इसका पाउडर दवाई के रूप में प्रयोग किया जाता है गुड़हल के फूलों की चाय भी बनाई जाती है इसकी चाय सेहत के लिए बहुत फायदेमंद मानी जाती है।

आजकल के आधुनिक आयुर्वेदिक प्रोडक्ट मैं यह सब Fruits & Herbs आराम से आपको कोल्ड प्रेस शुगर फ्री मिल जाते हैं आप खुद इनका चयन करके. इनका उपयोग रोज के प्रोटीन विटामिन मिनरल्स की पूर्ति के लिए कर सकते हैं.

 गुड़हल के फायदे बालों के लिए

आज के समय में बाल झड़ना एक आम बात हो गई है जिससे लोग बहुत परेशान वह दुखी रहते हैं इसके लिए वह तरह तरह के केमिकल वाले तेल,  शैंपू आदि यूज करते हैं जिससे फायदा होने की जगह नुकसान ज्यादा होता है इस  समस्या से छुटकारा पाने के लिए आप गुलहड़ के फूलों या पत्तियों को तेल में उबालकर उपयोग कर सकते हैं आप इसके लिए नारियल का तेल या फिर जैतून का तेल भी इस्तेमाल कर सकते हैं  इससे आपके बाल घने ,लंबे व सुंदर होंगे बालों के लिए वरदान हैं गुड़हल के फूल ।

गुड़हल के फूल हाई ब्लड प्रेशर के लिए 

गुड़हल की पत्तियां या उसके फूलों की चाय हाय ब्लड प्रेशर वाले व्यक्तियों के लिए बहुत अच्छी मानी जाती है अगर हाई ब्लड प्रेशर में गुड़हल की पत्तियों की चाय बनाकर पी सकते हैं तो यह आपके लिए दवा के रूप में काम करेगी इसके सेवन करने से हाई ब्लड प्रेशर को कम करने में सहायता मिलती है साथ में शरीर में हृदय की गति सामान्य रूप से काम करती है इसकी चाय आप खाली पेट सुबह पी सकते हैं ज्यादा फायदा मिलेगा ।

त्वचा के लिए लाल गुड़हल के फूल के फायदे 

गुड़हल हमारी स्किन के लिए बहुत फायदेमंद माना गया है इसके अंदर मौजूदा विटामिन सी, एंटीऑक्सीडेंट और आयरन पाए जाते हैं जो हमारे चेहरे की डेड स्किन को हटाकर उन्हें पहले जैसा बनाती है इसका नियमित इस्तेमाल करने से  स्किन पर मुंहासे ,दाग धब्बे,  पिगमेंटेशन जैसी कई प्रॉब्लम्स को दूर किया जा सकता है इसके लिए आप गुड़हल की पत्तियां या फूलों को लेकर उसे पानी में उबाल लें अब इस पेस्ट में शहद मिलाकर अपने चेहरे पर फेस पैक की तरह लगा ले इससे आपकी स्क्रीन का रूखापन दूर होगा साथ में यह चेहरे को अच्छे से क्लीन भी करता है।

गुड़हल वजन कम करने के लिए 

यदि आप बढ़े हुए वजन से परेशान हैं और अपने शरीर की फालतू चर्बी को कम करना चाहते हैं तो आप गुलहड़ के पत्तियों का या फूलों का सेवन कर सकते हैं  जब हम दिन में भोजन करते हैं जिसमें कार्बोहाइड्रेट अच्छी मात्रा में होता है तो ऐसी स्थिति में वजन आराम से बढ़ने लगता है गुलहड़ की पत्तियों  या फूलों की चाय शरीर में ग्लूकोस की मात्रा को कम करती है  जिससे धीरे-धीरे हमारा वजन कम होना शुरू हो जाता है और हमारा डाइजेस्टिव सिस्टम अच्छे से काम करने लगता है और हमारे शरीर की चर्बी धीरे-धीरे कम होती है जिससे वजन कंट्रोल में रहने लगता है

सुबह खाली पेट इसकी चाय पीने से बिना चीनी की फायदा पहुंचता है।

गुड़हल की चाय कोलेस्ट्रॉल स्तर को कंट्रोल 

कुल्हड़ की चाय पीने के बहुत ज्यादा फायदे होते हैं इसके फूल ही नहीं पत्तियां भी हमारे शरीर के कोलेस्ट्रॉल लेवल को कंट्रोल करने में मदद करती है इसके अंदर मौजूद पोषक तत्व arteries (धमनियों में पट्टिको) को जमने से रोकता है जिससे हमारे शरीर का कोलेस्ट्रॉल लेवल कंट्रोल में रहता है इसके अलावा यह हमारे दिल के लिए बहुत फायदेमंद होता है गुलहड़ की चाय में हाइपोग्लाइसेमिक और हाइपोलिपिडेमिक नामक गुण होते हैं जो डायबिटीज को भी दूर करने में मदद करते है.

जरूर पढ़े:- अंजीर खाने के फायदे और नुकसान

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here